Delhi Crime: अवैध तरीके से द‍िल्‍ली में रह रहे नाइजी‍रियन नागर‍िक को भेजा जेल, मकान माल‍िक पर भी FIR दर्ज

Delhi Crime: अवैध तरीके से द‍िल्‍ली में रह रहे नाइजी‍रियन नागर‍िक को भेजा जेल, मकान माल‍िक पर भी FIR दर्ज

नई द‍िल्‍ली. द‍िल्‍ली पुल‍िस (Delhi Police) के द्वारका ज‍िला अंतर्गत मोहन गार्डन और उत्‍तम नगर में बड़ी संख्‍या में अफ्रीकी नागर‍िक रह रहे हैं. इन सभी पर द‍िल्‍ली पुल‍िस की भी पैनी नजर रहती है. इन सभी की वीजा अवधि समाप्‍त होने, दूसरी अवैध गत‍िव‍िध‍ियों, नकली वीजा मामलों में संल‍िप्‍ता पर लगातार नजर बनाए रहती है. और अवैध रूप से रहने वाले विदेशियों के खिलाफ भी लगातार कार्रवाई करती रहती है. ताजा मामला मोहन गार्डन इलाके का सामने आया है.

द‍िल्‍ली पुल‍िस के द्वारका ज‍िला डीसीपी संतोष कुमार मीणा के मुताबि‍क 11 स‍ितंबर को सुबह 9 बजे के आसपास थाना मोहन गार्डन के हवलदार विक्रम और सिपाही मुकेश जो कि एरिया में पेट्रोलिंग ड्यूटी कर रहे थे. उन्होंने एक विदेशी नाइजीरियन (Nigerian) व्यक्ति को सोम बाजार रोड, नजदीक मेडिकल शॉप मोहन गार्डन, नई दिल्ली पर रोका और उसके पासपोर्ट (Passport) और वीजा (Visa) के बारे में पूछा. लेकिन वह व्यक्ति उचित समय देने के बावजूद भी अपने ये कागजात प्रस्तुत नहीं कर सका.

ये भी पढ़ें: Delhi Police के स्‍पेशल स्‍टॉफ ने दबोचा शात‍िर बदमाश, फायर आर्म्स के 115 मामले दर्ज

पूछताछ पर उसका नाम व पता केसी बुसाना पुत्र बडाना पता यूली, स्टेट अबम्बरा नाइजीरिया उम्र 37 साल मालूम हुई और वर्तमान में वह एक किराएदार के तौर पर एल-ब्लॉक एक्सटेंशन मोहन गार्डन नई दिल्ली में रह रहा है. इसके बाद उसके ख‍िलाफ मुकदमा संख्या 504/21 धारा 14A विदेशी अधिनियम के तहत दर्ज किया गया और उसको इस मामले में गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया गया.

कोर्ट ने उसको न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. मकान मालिक के खिलाफ भी एक एफआईआर नंबर 505/21 धारा 14C विदेशी अधिनियम के तहत दर्ज की गई है. इस मामले में पुल‍िस आगे की जांच कर रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Add comment

Topics

Recent posts

Follow us

Don't be shy, get in touch. We love meeting interesting people and making new friends.

Most popular

Most discussed