युवा खिलाड़ियों को तराश रहा पूर्णानंद स्टेडियम, बच्चे अभी से कर रहे ओलंपिक की तैयारी

युवा खिलाड़ियों को तराश रहा पूर्णानंद स्टेडियम, बच्चे अभी से कर रहे ओलंपिक की तैयारी

खेल प्रतिभाओं को अगर संसाधन और सही मार्गदर्शन मिले तो वह भी दुनिया के सामने अपना लोहा मनवा सकती हैं. इन्हीं प्रतिभाओं के लिए मुनि की रेती का करीब 6 एकड़ में बना पूर्णानंद खेल स्टेडियम काफी कारगर साबित हो रहा है. यहां सुबह-शाम खिलाड़ी आकर अपने-अपने खेल की प्रैक्टिस करते हैं. साथ ही समय-समय पर यहां पर टूर्नामेंट भी कराए जाते हैं.

यह पूर्णानंद खेल स्टेडियम लगभग दो करोड़ की लागत से तैयार किया गया है, जिसका लोकार्पण 8 नवंबर, 2020 को किया गया था. इसकी देखरेख खेल निदेशालय टिहरी गढ़वाल कर रहा है.

खास बात है कि यहां पर खेल विभाग द्वारा अलग-अलग खेल जैसे- क्रिकेट, वॉलीबॉल, सॉफ्टबॉल, खो-खो आदि के नेशनल कोच इन बच्चों को ट्रेनिंग दे रहे हैं. उनका मकसद है कि टिहरी-गढ़वाल और आसपास के क्षेत्र के खिलाड़ी अपनी प्रतिभा और मेहनत के दम पर विश्वस्तरीय प्रतियोगिताओं में अपना लोहा मनवा सकें.

इस स्टेडियम में सुबह-शाम तीन से चार घंटे बच्चे अपने खेल की प्रैक्टिस करते हैं. स्टेडियम में कहीं वॉलीबॉल की प्रैक्टिस चल रही होती है, तो कहीं हॉकी की. कुछ बच्चे सॉफ्टबॉल की तैयारी कर रहे होते हैं, तो कुछ बच्चे खो-खो खेलकर अपनी फुर्ती बढ़ा रहे होते हैं.

गंगा किनारे मौजूद यह स्टेडियम खिलाड़ियों के बीच खासा लोकप्रिय है. आसपास के क्षेत्र और कॉलेज के बच्चे यहां आकर अपने खेल की तैयारी करते हैं, जिन की सुविधा के लिए यहां कोच मौजूद रहते हैं.

पीजी कॉलेज ऋषिकेश में पढ़ने वालीं सॉफ्टबॉल खिलाड़ी तमन्ना बताती हैं कि यह मैदान शहर के बीच में स्थित है, यही वजह है कि यहां महिला खिलाड़ी भी आसानी से आ-जा सकती हैं. वह यहां से तैयारी कर नेशनल और ओलंपिक में भी हिस्सा लेना चाहती हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Add comment

Your Header Sidebar area is currently empty. Hurry up and add some widgets.