माथे पर तिलक लगाकर स्कूल जाता था छात्र, टीचर निशात बेगम ने लड़कों से पिटवाया

माथे पर तिलक लगाकर स्कूल जाता था छात्र, टीचर निशात बेगम ने लड़कों से पिटवाया

मध्यप्रदेश के रायसेन जिले में आठवीं क्लास के एक छात्र को स्कूल में तिलक लगाकर जाने पर बेरहमी से पीटने का मामला प्रकाश में आया है। कथिततौर पर, स्कूल में पढ़ाने वाली निशात (निशाद) बेगम नाम की टीचर ने बाहरी लड़कों से कह कर पवन सेन नामक बच्चे को मार पड़वाई। अब पवन अस्पताल में भर्ती है। पुलिस ने परिजनों की शिकायत पर रिपोर्ट दर्ज करके केस की जाँच शुरू कर दी है।

वहीं निशात बेगम ने मामले में अपनी सफाई देकर घटना से संबंध होने पर इंकार किया है। मगर, सेन समाज के लोगों ने मिल कर कलेक्टर को ज्ञापन दिया है और कार्रवाई की माँग की है। पूरा मामला गैरतगंज तहसील के शासकीय नवीन माध्यमिक शाला गैरतगंज का है। बच्चे की वीडियो सामने आई है इसमें वह अपने साथ घटी घटना बता रहा है।

कहा जा रहा है कि पवन को तिलक लगाकर स्कूल आने से बार-बार मना किया गया था लेकिन छात्र क्योंकि स्कूल जाने से पहले मंदिर जाता था और मंदिर से तिलक लगवाकर स्कूल जाता था। इसलिए तिलक माथे पर रहता था। इसी बात से नाराज एक टीचर ने पवन को ऐसा पिटवाया कि वो बेहोश हो गया।

इसके बाद छात्र को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। वहाँ उसे प्राथमिक उपचार दिया गया और बाद में जिला अस्पताल भेज दिया गया। दूसरी ओर केस दो संप्रदायों से जुड़ा होने के कारण गरमा गया है। शिक्षिका का कहना है कि ये सब छात्रों के आपसी झगड़े में हुआ। निशात बेगम ने कहा पीड़ित छात्र को बाहरी लड़कों ने पीटा है। वहीं पीड़ित छात्र के पिता ने कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपकर शिक्षिका के विरुद्ध कार्रवाई की माँग की है।

गौरतलब है कि ये पहली बार नहीं जब मध्य प्रदेश में किसी नाबालिग छात्र को तिलक लगाकर स्कूल आने पर पीटा गया हो। इससे पहले साल 2017 में एक खबर आई थी किं खंडवा के मिशनरी स्कूल में हिंदू बच्चों के साथ दुर्व्यवहार हो रहा था। एक बार तो स्कूल में एक बच्चा तिलक लगाकर पहुँचा तो उसे प्रताड़ित किया गया था। उससे पूर्व रक्षा सूत्र, राखी कटवाने का काम भी स्कूल में होता था।

blank

Source

Add comment

Your Header Sidebar area is currently empty. Hurry up and add some widgets.