बरगद का फल डायबिटीज, डिप्रेशन कम करने में है मददगार, इन बीमारियों में भी है फायदेमंद

बरगद का फल डायबिटीज, डिप्रेशन कम करने में है मददगार, इन बीमारियों में भी है फायदेमंद

Banyan Fruit: बरगद (Banyan) का पेड़ काफी पूजनीय माना जाता है और हिन्दू धर्म में इसकी पूजा की जाती है. ये तो सभी जानते हैं लेकिन बरगद का पेड़ और इसके फल (Fruit) सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद होते हैं, ये कम लोग ही जानते हैं. बता दें की बरगद का पेड़ कई सारे औषधीय गुणों से भरपूर होता है और इसमें कई पोषक तत्व पाए जाते हैं. वहीं बरगद के फल खनिज लवणों, एंटी-ऑक्सीडेंट और एनाल्जेसिक गुणों से भरपूर होते हैं. इन फलों में प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम और फास्फोरस जैसे पोषक तत्व भी पाए जाते हैं. आज हम आपको बरगद के फल के सेहत सम्बन्धी (Related) फायदों के बारे में बताते हैं. आइए जानते हैं कि बरगद के फल किन दिक्कतों को दूर करने में मदद करते हैं.

ये भी पढ़ें: बरगद का पेड़ है सेहत के लिए फायदेमंद, जानें कैसे

डिप्रेशन को कम करता है

बरगद के फल में कुछ ऐसे तत्व पाएं जाते हैं जो मानसिक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं. साथ ही चिंता और तनाव की दिक्कत को दूर करने में भी काफी कारगर होते हैं. ये फल डिप्रेशन की दिक्कत को दूर करके दिमाग की नसों को आराम पहुंचाते हैं.

दस्त और पेचिश से राहत देता है

बरगद का फल दस्त और पेचिश जैसी दिक्कत को दूर करने में भी काफी मददगार होता है. इस दिक्कत से राहत पाने के लिए आप बरगद के फल को रात भर के लिए पानी में भिगोकर रख दें और सुबह खाली पेट इसका सेवन करें.

इम्यूनिटी बढ़ाता है

बरगद का फल इम्यूनिटी बढ़ाने में भी काफी मदद करता है. इस फल में हेक्सेन जैसे तत्व होते हैं जो इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग बनाने में सहायता करते हैं. जिसकी वजह से बीमार होने का खतरा कई गुना कम हो जाता है.

दिल की सेहत दुरुस्त रखता है

इस फल में काफी मात्रा में पोटेशियम पाया जाता है, जो सोडियम के स्तर को कम करने में कारगर होता है. ये शरीर के रक्तचाप नियंत्रित करने में मदद करता है. इसकी वजह से दिल की सेहत दुरुस्त रहती है और दिल से जुड़ी बीमारियां होने का खतरा कम होता है.

ये भी पढ़ें: केवल बगीचे को ही सुंदर नहीं बनाता बल्कि सेहत को भी दुरुस्त करता है गुलमोहर

डाइबिटीज की दिक्कत को कम करता है

बरगद का फल डाइबिटीज की दिक्कत को कम करने में भी सहयोगी है. इसके लिए डाइबिटीज पेशेंट को इसके फल के चूर्ण का सेवन करना चाहिए. अगर चूर्ण न खाना चाहें तो इन फलों को उबाल कर इसका उबला हुआ पानी भी पिया जा सकता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Add comment

Your Header Sidebar area is currently empty. Hurry up and add some widgets.