ललितपुर दुष्कर्म पीड़िता

‘अब रोज यह करना होगा… माँ को मार दूँगा’: नाबालिग से रेप केस में सपा-बसपा जिलाध्यक्ष फरार, 250 पर नई FIR


ललितपुर दुष्कर्म पीड़िता

— ‘अब रोज यह करना होगा… माँ को मार दूँगा’: नाबालिग से रेप केस में सपा-बसपा जिलाध्यक्ष फरार, 250 पर नई FIR लेख आप ऑपइंडिया वेबसाइट पे पढ़ सकते हैं —

उत्तर प्रदेश के ललितपुर में पिता, भाई और अन्य रिश्तेदारों सहित 28 लोगों के खिलाफ दर्ज मुकदमे में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार लोगों में पीड़िता के पिता और सपा के जिला प्रमुख के भाई सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं, पीड़िता का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें वह आपबीती बता रही है। 2 मिनट 12 सेकेंड के इस वीडियो में उसने बताया है कि पिता उसे धमकी देकर किस तरह दरिंदगी करता था।

वहीं, मामले की सीबीआई जाँच की माँग को लेकर झाँसी के सपा जिलाध्यक्ष महेश कश्यप ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ मार्च निकालकर डीएम और एसपी को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान सपा के कार्यकर्ताओं ने पीड़िता की पहचान उजागर कर दी। पहचान उजागर करने के मामले में महेश कश्यप सहित 250 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। वहीं, कुछ मीडिया रिपोर्ट ने इस संख्या को 150 बताया है। साथ ही इन लोगों पर धारा 144 के उल्लंघन का आरोप भी लगाया गया है। दरअसल इन लोगों ने जो ज्ञापन दिया था, उसमें रेप पीड़िता का नाम लिखकर उसे सार्वजनिक कर दिया है।

वहीं, बुधवार को सिविल जज जूनियर डिवीजन फास्ट ट्रैक गरिमा सक्सेना की कोर्ट में किशोरी के 164 के तहत बयान कराया गया और मेडिकल के बाद पुलिस ने रात में दबिश देकर चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इन आरोपियों में किशोरी के पिता और सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव के भाई अरविंद यादव भी शामिल हैं। वहीं, कई आरोपियों ने अपने फोन बंद कर लिए हैं। कुछ ने राजनीतिक शरण ले ली है।

वीडियो में पीड़िता ने सुनाई आपबीती

पुलिस को हाथ लगे वीडियो में पीड़िता कह रही है, “मेरा नाम…. है। जब मैं कक्षा-6 में थी, उस मेरे पिताजी ने मुझे गंदी-गंदी वीडियो दिखाई और कहा कि तुम्हें भी यही करना है। मैंने कहा कि मैं ये नहीं करूँगी तो बोले- तुम्हें यही करना पड़ेगा। अगर तुमने ये नहीं किया तो तुम्हारी माँ को मार दूँगा। फिर उन्होंने मुझे मोटर साइकिल सिखाने के बहाने खेतों में ले गए और मेरे बलात्कार किया। फिर उन्होंने कहा कि अगर ये बात किसी को बताई तो मैं तुम्हारी माँ को मार दूँगा। उन्होंने मुझे धमकी दी इसलिए मैं डर गई। इसलिए मैं शांत रही। मैंने किसी को कुछ नहीं बताया।”

वीडियो में पीड़िता आगे कहती है, “एक दिन जब मैं स्कूल गई तो वो मुझे छुट्‌टी के समय तुरंत लेने आए और बोले- जो मैं कहूंगा वो करना। तो मैं शांत रही, मैंने कुछ नहीं कहा। फिर वो मुझे एक होटल में लेकर गए। उस होटल का नाम राधाकृष्ण था। वो स्टेशन के पास है। वहाँ पर बाहर एक औरत खड़ी हुई थी। मैं उसको नहीं जानती थी, पर उसने बोला- आओ बेटा, मैं तुम्हें एक कमरे में ले चलती हूँ और फिर मुझे वो एक कमरे में ले गई। वहाँ मैं धीरे-धीरे बेहोशी की हालत में होती गई। क्योंकि मुझे लगा कि पानी की टिक्की जो मुझे पिलाई गई, उसमें कुछ चीज मिली हुई थी।”

वीडियो में पीड़िता आगे की आपबीती कहती है, “वह औरत मुझे कमरे में छोड़कर चली गई और बोली कि मैं थोड़ी देर में आती हूँ, तुम यहीं रुकना। वहाँ कमरे में एक आदमी आया और उसने मेरे साथ बलात्कार किया। जब मैं होश में आई तो मेरे कपड़े और जूते बिखरे हुए थे। मैंने अपने पापा से पूछा कि क्या हुआ था मेरे साथ तो बोले कि जो कुछ हुआ, अब वही करना है तुम्हें। करना है तुम्हें। न्होंने कहा कि अब तुम्हें रोज यही करना पड़ेगा। “

किशोरी का पिता उसे रोज स्कूल से ले जाता था। इसके बाद होटल में दूसरे युवकों के पास छोड़ देता था। वहाँ पर उसके साथ रेप किया जाता था। पीड़िता ने आरोप लगाया है कि जब वह अपने मामा के घर गई तो चचेरे भाइयों के साथ उसके चार चाचाओं ने उसके साथ दुष्कर्म किया। उसने दावा किया कि उसकी दादी ने घटना को दबाने की कोशिश की। किशोरी के मुताबिक, उसके ताऊ और तीन चाचाओं ने भी घर ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया।

दैनिक भास्कर के अनुसार, लड़की ने बताया कि इन सब से परेशान होकर कुछ दिन पहले वह अपनी माँ के साथ महिला थाने गई और वहाँ शिकायत की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इसकी जानकारी जब उसके पापा को हुई तो पीड़िता और उसकी मम्मी को मारपीट कर घर में बंद कर दिया।

बताया जा रहा है कि 13 जुलाई को किशोरी अपने चाचा की लड़की की शादी में गई थी। वहाँ पर उसे बेचने का प्रयास किया गया। इसके बाद कई बार और उसे बेचने का प्रयास हुआ, जिससे डरकर पीड़िता ने माँ और भाई के साथ खुद को घर में कैद कर लिया। इसके साथ ही उसने पूरे घटनाक्रम का वीडियो बनाकर चाइल्ड लाइन और महिला आयोग को भेज दिया। मामला सार्वजनिक होने के बाद पुलिस सक्रिया हुई।

एसपी ने पीड़िता से की मुलाकात, बाद में डीआईजी भी मिले

मामला सामने आने के बाद और इसकी संवेदनशीलता को देखते हुए पुलिस पीड़िता के घर पहुँची, लेकिन पीड़िता ने दरवाजा नहीं खोला। उसके बाद एसपी निखिल पाठक पीड़िता के घर पहुँचकर पीड़िता को न्याय का भरोसा दिलाया। बाद में डीआईजी ने भी पीड़िता के घर जाकर उससे मुलाकात की।

वहीं, पीड़िता की शिकायत के पर मुकदमा दर्ज होने के बाद पीड़िता के भाई की तहरीर पर एक अलग मुकदमा दर्ज करने की तैयारी हो रही है। पीड़िता के भाई ने भी आरोप लगाया है कि उसका पिता उसके साथ भी दुष्कर्म करने की कोशिश करता था और विरोध करने पर माँ की हत्या की धमकी देता था।

Add comment

Your Header Sidebar area is currently empty. Hurry up and add some widgets.